मील के पत्थर F1

Schumacher's son drives old F1 car to mark 25th anniversary

AP Updated: 28 June, 2018, 2:23 PM IST

HIGHLIGHTS

  • Marking the 25th anniversary of Michael Schumacher's first Formula One win
  • Mick Schumacher, who is 18, was in a 1994 F1 model of the Benetton B194 which his father drove that year to the first of his record seven world championships
  • Mick Schumacher is driving in the F3 championship, and is touted for a bright future

Marking the 25th anniversary of Michael Schumacher's first Formula One win, his teenage son Mick drove demonstration laps in an old F1 car ahead of the Belgian Grand Prix yesterday.

Mick Schumacher, who is 18, was in a 1994 F1 model of the Benetton B194 which his father drove that year to the first of his record seven world championships. The German driver's 91 wins and 68 pole positions are also records, although Mercedes driver Lewis Hamilton equaled the pole-position mark.

"It was awesome," Mick Schumacher said after applause from the crowd in Spa. "To be able to drive the F1 car is amazing and I'm really honored."

He also paid tribute to Hamilton for matching his father's pole record.

Michael Schumacher won his first career race on the vast Spa-Francorchamps track nestled in the Ardennes forest in 1992. He also made his debut there the year before and has a special affinity with the track. He has a record six wins — one more than another F1 great, the late AyrtonSenna.

Mick Schumacher, meanwhile, is driving in the F3 championship, and is touted for a bright future.

Get Daily Updates From CricToday

Subscribe and get the latest Sports News delivered to your inbox.

Email is required. Invalid email address.
मील के पत्थर क्रिकेट

आईसीसी टेस्ट ऑलराउंडर रैंकिंग में जेसन होल्डर बन गए नंबर 1 और सोबर्स के बाद पहली बार वेस्टइंडीज का कोई ऑलराउंडर नंबर 1 बना 

Staff Writer Updated: 30 January, 2019, 5:25 PM IST

HIGHLIGHT

इंग्लैंड वाले जबरदस्त रिकॉर्ड के साथ वेस्टइंडीज में टेस्ट सीरीज खेलने आए थे। दूसरी तरफ मेजबान वेस्टइंडीज को इस सीजन में भारत और बांग्लादेश टूर में 2-0 से हार मिल चुकी थी। इसके बावजूद अचानक ही समीकरण बदला और वेस्टइंडीज ने ब्रिजटाउन में सीरीज के पहले टेस्ट में उन्हें 381 रन जैसी बड़ी हार दी। कई अच्छे प्रदर्शन इस जीत के लिए जिम्मेदार रहे पर सबसे बड़ी भूमिका कप्तान जेसन होल्डर ने निभाई - 202* का एक स्कोर और साथ में 2 विकेट। खास बात ये कि नंबर 8 पर बल्लेबाजी कर रहे थे और डोरिच के साथ मिलकर वेस्टइंडीज की पारी को 120-6 के स्कोर से संभाला था।

ढेरों नए रिकॉर्ड बना दिए होल्डर ने अपने इस दोहरे शतक से और खास बात ये कि इस टेस्ट के बाद की आईसीसी टेस्ट ऑलराउंडर रेंकिंग में उन्हें नंबर 1 पायदान पर पहुंचा दिया। टेस्ट शुरू होने के समय टॉप 3 क्रमशः शाकिब अल हसन (416 अंक), रविंद्र जडेजा (387) और होल्डर (366) थे - टेस्ट खत्म हुआ तो होल्डर 440 अंक पर थे। इस जगह पर, आईसीसी रेंकिंग की औपचारिक शुरूआत के बाद से वेस्टइंडीज से कोई नहीं पहुंचा था इससे पहले।

आईसीसी ने रेंकिंग की औपचारिक शुरूआत से पहले के टेस्ट मैचों की क्रिकेट की बदौलत भी रिकॉर्ड के लिए रेंकिंग की गणना की है और अगर उसे देखें तो पता लगता है कि नंबर 1 ऑलराउंडर पर वेस्टइंडीज से आखिरी नाम गैरी सोबर्स का था मार्च 1974 में! सोबर्स का नाम लें तो ऐसे ऑलराउंडर क्रिकेटर की छवि सामने आती है जिसके लिए क्रिकेट में सब कुछ संभव था - 93 टेस्ट में 57.78 औसत से 8032 रन और 34.03 औसत से 235 विकेट। सोबर्स ने 26 शतक बनाए और 6 बार 5 विकेट का रिकॉर्ड बनाया।

गैरी सोबर्स और जेसन होल्डर की तुलना करना सही नहीं होगा क्योंकि होल्डर अभी 36 टेस्ट ही खेले हैं - 33.86 औसत से 3 शतक के साथ 1761 रन और 28.29 औसत से 68 विकेट जिसमें 5 बार 5 और 1 बार 10 विकेट का रिकॉर्ड। यह भी क्यों भूल जाएं कि जब सोबर्स खेले तो वेस्टइंडीज एक टॉप टीम थी और वेस्टइंडीज टीम का प्रदर्शन जीत वाला बनाने की जिम्मेदारी अकेले सोबर्स नहीं उठा रहे थे - होल्डर को ये मनोवैज्ञानिक फायदा कभी नहीं मिला। वे जूझती हुई टीम के लिए खेले और बाद में कप्तान बनें। ऐसा नहीं है कि होल्डर के खेलने या कप्तान बनने से वेस्टइंडीज क्रिकेट का पासा पलट गया पर बदलाव के आसार नजर आ रहे हैं।

2012 से 2014 के बीच 24 टेस्ट में वेस्टइंडीज ने 9 टेस्ट जीते और 11 हारे पर 9 में से 6 जीत बांग्लादेश और जिंबाब्वे के विरूद्ध थीं। उससे आगे के अब तक खेले 21 टेस्ट में से ब्रिजटाउन में 8वीं जीत मिली। इस रिकॉर्ड में होल्डर का योगदान है एक क्रिकेटर और एक कप्तान के तौर पर। अब तक सिर्फ 9 खिलाड़ी ऐसे रहे हैं जिन्होंने कप्तान के तौर पर 1000 रन और 50 विकेट का डबल बनाया। इस लिस्ट में रन की गिनती के क्रम में गैरी सोबर्स (3528 रन, 117 विकेट), इमरान खान (2408 रन, 187 विकेट), जॉन रीड (2129 रन, 54 विकेट), डेनियल विटोरी (1917 रन 116 विकेट), जेसन होल्डर (1381 रन, 72 विकेट), कपिल देव (1364 रन, 111 विकेट), रे इलिंगवर्थ (1288 रन, 51 विकेट), डेरन सैमी (1032 रन, 57 विकेट) एवं हीथ स्ट्रीक (1013 रन, 56 विकेट) जैसे नाम हैं।

एक ऐसे दौर में जबकि बल्लेबाज लंबी पारी खेलना भूलते जा रहे हैं और दोहरे शतक या बड़े स्कोर की हिस्सेदारी लगातार कम हो रही है - होल्डर ने दोहरा शतक बनाया। 2018-19 सीजन में सिर्फ तीसरा दोहरा शतक बना - मुशफिकर रहीम ने 219* और टॉम लेथम ने 264* बनाए थे होल्डर से पहले। कहां है टेस्ट क्रिकेट के बड़े नाम वाले बल्लेबाजों के दोहरे शतक?

समाचार क्रिकेट

विश्व कप को देखते हुए रिजर्व खिलाड़ियों पर रहेगी टीम प्रबंधन की खास नजर

Amardeep Srivastava Updated: 30 January, 2019, 5:01 PM IST

HIGHLIGHT

  • अगले कुछ वनडे मैच में रिजर्व खिलाड़ियों को खेलने का मौका मिलेगा
  • फील्डिंग कोच आर श्रीधर ने रिजर्व खिलाड़ियों को मौका देने की बात कही
  • भारतीय टीम के मौजूदा प्रदर्शन से खुश हैं श्रीधर

टीम इंडिया के फील्डिंग कोच आर श्रीधर का कहना है कि अगले कुछ वनडे मैच में रिजर्व खिलाड़ियों को खेलने का मौका मिलेगा। श्रीधर के मुताबिक टीम प्रबंधन चाहता है कि इस साल इंग्लैंड में होने वाले विश्व कप से पहले सभी खिलाड़ी मैच खेलने के लिए पूरी तरह से फिट रहें।

न्यूजीलैंड के खिलाफ चौथे वनडे से ठीक पहले पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए श्रीधर ने कहा,'' जीत ऐसी आदत है जिसे आप हमेशा जारी रखना चाहते हैं और जोश को कम नहीं होने देना चाहते, लेकिन हमें रिजर्व खिलाड़ियों को भी मैच खेलने का मौका देना होगा क्योंकि विश्व कप से पहले अब कुछ ही मैच बचे हैं।

श्रीधर ने कहा, ‘‘हम विश्व कप के लिए जाने से पहले ऐसी स्थिति नहीं चाहते जहां मुख्य प्लेइंग इलेवन खेलती रहे और विश्व कप में जब अचानक अहम मैच खेलना हो तो रिजर्व खिलाड़ी मैच खेलने का पूरा समय नहीं मिलने के कारण इसके लिए तैयार नहीं हों। मुझे यकीन है कि टीम प्रबंधन भी इस बारे में गंभीरता से सोच रहा है।''

टीम इंडिया की क्षमता के बारे में पूछे गए सवाल पर श्रीधर ने कहा, ''भारत की बल्लेबाजी हमेशा से मजबूत रही है लेकिन अब गेंदबाजों ने भी सही समय पर विकेट लेना शुरू कर दिया है। वे भुवी और शमी हो या लेग स्पिन गेंदबाज कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल सभी बेहतरीन प्रदर्शन कर रहे हैं।

समाचार क्रिकेट

केएल राहुल को इंग्लैंड लायंस के खिलाफ इंडिया ए टीम में शामिल किया गया  

Shadab Ali Updated: 30 January, 2019, 5:00 PM IST

HIGHLIGHT

टीम इंडिया के बल्लेबाज केएल राहुल को लेकर अब एक और बड़ी खबर आ रही है. केएल राहुल को इंग्लैंड लायंस के विरुद्ध खेले जाने वाले चार दिवसीय मुकाबले के लिए इंडिया ए टीम में शामिल किया गया है. भारतीय क्रिकेट चयनकर्ताओं ने हाल ही में 14 सदस्यीय इंडिया ए टीम की घोषणा की है.

बता दें कि इंडिया ए और इंग्लैंड लायंस के बीच चार दिवसीय मैच का आयोजन 7 फरवरी से होगा. टीम इंडिया का हिस्सा रहे केएल राहुल को एक टीवी शो के दौरान महिलाओं के खिलाफ विवादित टिप्पणी करने के बाद उन्हें ऑस्ट्रेलियाई दौरे से वापस भेज दिया गया था. उसके बाद न्यूजीलैंड दौरे के लिए उनकी जगह युवा बल्लेबाज शुभमन गिल को टीम में शामिल किया गया.

फिलहाल इंग्लैंड लायंस के विरुद्ध मौजूदा वनडे सीरीज में पहले चार मैच जीतकर इंडिया ए क्लीन स्वीप की कगार पर है.

इंग्लैंड लायंस के खिलाफ इंडिया ए टीम इस प्रकार है:

अंकित बवाने (कप्तान), के एल राहुल, आर ईश्वरन, प्रियांक पांचाल, रिकी भुई, सिद्देश लाड, केएस भरत (विकेटकीपर), जलज सक्सेना, शाहबाज नजीम, मयंक मारकंडे, नवदीप सैनी, शार्दुल ठाकुर, आवेश खान और वरुण एरोन

समाचार क्रिकेट

हैमिल्टन वनडे में रोहित शर्मा तोडेंगे महेंद्र सिंह धोनी का एक बड़ा रिकॉर्ड!

Shadab Ali Updated: 30 January, 2019, 4:54 PM IST

HIGHLIGHT

भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा वनडे में अब एक और रिकॉर्ड ध्वस्त करने की कगार पर हैं. न्यूजीलैंड के खिलाफ हैमिल्टन में खेला जाना वाला मुकाबला रोहित शर्मा के लिए बहुत ख़ास होगा. टीम इंडिया के हिट मैन रोहित शर्मा मैदान में उतरते के साथ ही 200 वनडे खेलने वाले 14वें भारतीय खिलाड़ी होंगें.

इसके अलावा उनके निशाने पर एक और बड़ा रिकॉर्ड होगा. बता दें कि रोहित शर्मा ने वनडे में सबसे ज्यादा छक्के जमाने के मामले में एमएस धोनी (215 छक्कों) की बराबरी की है और वह उनका रिकॉर्ड तोड़ने से महज 1 छक्का पीछे हैं.

रोहित 199 वनडे मुकाबलों में अब तक 215 छक्के जमा चुके हैं, जब कि धोनी ने इतने ही छक्के 337 मैचों में लगाए हैं. हालांकि धोनी ने वनडे में अब तक 222 छक्के जमाए हैं, जिसमें उन्होंने टीम इंडिया का प्रतिनिधित्व करते हुए 215 तथा एशिया इलेवन की तरफ से खेलते हुए 7 छक्के जड़े हैं. अब रोहित के पास ना सिर्फ धोनी का रिकॉर्ड तोड़ने का मौका होगा, बल्कि वह वनडे में सर्वाधिक छक्के जमाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज भी बन सकते हैं.

समाचार क्रिकेट

फाफ डू प्लेसी ने विश्व कप 2019 के लिए अपनी 2 पसंदीदा टीमें चुनी

Shadab Ali Updated: 30 January, 2019, 4:43 PM IST

HIGHLIGHT

  • दक्षिण अफ़्रीकी कप्तान ने भारत और इंग्लैंड को बताया विश्व कप का प्रबल दावेदार 
  • इस साल इंग्लैंड में आयोजित होगा वनडे विश्व कप 
  • अपनी टीम को लेकर भी कही बड़ी बात 

दक्षिण अफ़्रीकी टीम वर्तमान समय में पाकिस्तान के खिलाफ पांच मैचों की वनडे सीरीज खेलने में व्यस्त है. मौजूदा सीरीज में दोनों ही टीमें 2-2 से बराबरी पर बनी हैं, वहीं निर्णायक मुकाबले से पहले दक्षिण अफ़्रीकी कप्तान फाफ डू प्लेसी से बड़ा बयान दिया है.

उन्होंने इस साल इंग्लैंड में आयोजित होने वाले वनडे विश्व कप के लिए दो टीमों को प्रबल दावेदार बताया है.

फाफ ने कहा, “मैं समझता हूं कि आगामी विश्व कप के लिए भारत और इंग्लैंड की टीमें सबसे मजबूत दावेदार हैं. ये दोनों विश्व की सर्वश्रेष्ठ टीमें हैं. 2015 विश्व कप में अपने खराब प्रदर्शन के बाद इंग्लैंड ने अपने खेल में काफी सुधार किया है. टीम इंडिया भी मौजूदा समय में शानदार क्रिकेट खेल रही है. उन्होंने आखिरी दो सालों में बेहतरीन खेल का नमूना पेश किया है.

फाफ ने अपनी टीम के बारे में कहा, “विपक्षियों की नज़र में फिलहाल हम मजबूत टीम नहीं हैं, लेकिन जब हम विश्व कप में खेलते हैं तो चारों ओर हमारी चर्चाएं होती हैं.” उन्होंने कहा, “हम इस बार भी विश्व कप में अच्छे प्रदर्शन के इरादे से उतरेंगें.”

समाचार क्रिकेट

प्रैक्टिस सेशन में धोनी ने जमकर पसीना बहाते हुए हैमिल्टन वनडे में खेलने के दिए संकेत

Staff Writer Updated: 30 January, 2019, 3:42 PM IST

HIGHLIGHT

  • महेंद्र सिंह धोनी ने किया जमकर अभ्यास
  • चौथे वनडे में धोनी के खेलने की उम्मीद बढ़ी
  • हैमिल्टन में होने वाले मुकाबले में रोहित शर्मा करेंगे कप्तानी

भारतीय क्रिकेट टीम को न्यूजीलैंड के खिलाफ हैमिल्टन में पांच वनडे मैच की सीरीज का चौथा मुकाबला खेलना है। लगातार तीन शुरुआती मुकाबले जीतकर टीम इंडिया ने सीरीज पहले ही अपने नाम कर ली है। तीसरे वनडे में चोटिल होने की वजह से विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी नहीं खेल पाए थे। मगर चौथे वनडे मुकाबले से ठीक पहले धोनी ने प्रैक्टिस सेशन में जिस अंदाज में पसीना बहाते हुए बल्लेबाज की उससे साफ हो गया है कि वह फिट हैं।

न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में जीत का सिलसिला बनाए रखने के लिए टीम इंडिया ने चौथे वनडे से पहले कड़ा अभ्यास किया। टीम के खिलाड़ियों ने नेट्स पर जमकर पसीना बहाया। प्रैक्टिस सेशन में सबकी नजरें पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी पर टिकी थी। धोनी चोट की वजह से पिछले वनडे में टीम का हिस्सा नहीं थे।

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने अपने आधिकारिक टि्वटर पेज से भारतीय खिलाड़ियों के नेट प्रैक्टिस की कुछ तस्वीरें पोस्ट की है।

टीम रोहित शर्मा की कप्तानी में न्यूजीलैंड के खिलाफ चौथा वनडे खेलने उतरेगी। स्थाई कप्तान विराट कोहली को आखिरी दो वनडे और टी20 सीरीज के लिए आराम दिया गया है। हैमिल्टन में खेला जाने वाला यह मैच रोहित शर्मा के वनडे करियर का 200वां मुकाबला होगा।

समाचार क्रिकेट

गिल को मौका दिए जाने की मांग ने पकड़ा जोर, गांगुली के बाद गावस्कर ने भी की युवा बल्लेबाज की वकालत

Staff Writer Updated: 30 January, 2019, 2:56 PM IST

HIGHLIGHT

  • सौरव गांगुली के बाद अब सुनील गावस्कर ने भी शुभमन गिल को मौका दिए जाने की वकालत की है
  • विराट कोहली को आराम दिए जाने की वजह से नंबर 3 की जगह खाली है
  • गिल को न्यूजीलैंड के खिलाफ होने वाले चौथे वनडे में डेब्यू करने का मौका मिल सकता है

न्यूजीलैंड के साथ हो रही वनडे सीरीज में लगातार तीन मैच जीतने के बाद टीम इंडिया चौथे मुकाबले में बदलाव के साथ उतरेगी। इस मैच में भारतीय टीम के पास बेंच स्ट्रेंथ को आजमाने का बेहतरीन अवसर है। अंडर 19 विश्व कप में बेहतरीन बल्लेबाजी करके सुर्खियों में आए गिल को न्यूजीलैंड के खिलाफ होने वाले चौथे वनडे में डेब्यू करने का मौका मिल सकता है।

कई पूर्व भारतीय दिग्गज खिलाड़ियों ने भी गिल को प्लेइंग इलेवन में शामिल किए जाने की मांग की है। सौरव गांगुली के बाद अब सुनील गावस्कर ने भी शुभमन गिल को मौका दिए जाने की वकालत की है। गावस्कर ने इंडिया टुडे से बात करते हुए कहा, ”विराट कोहली को आराम दिए जाने की वजह से नंबर 3 की जगह खाली है। इस युवा बल्लेबाज के पास भारत की तरफ से डेब्यू करने का बेहतरीन मौका है।''

पंजाब के बाएं हाथ के युवा बल्लेबाज शुभमन गिल के न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में डेब्यू करने की खबर लगातार सामने आ रही है। भारतीय टीम सीरीज को अपने नाम कर चुकी है ऐसे में नजीते का ज्यादा फर्क टीम पर नहीं पड़ने वाला।

टीवी शो पर विवादित टिप्पणी करने की वजह से न्यूजीलैंड दौरे के बाहर हुए केएल राहुल की जगह शुभमन गिल को टीम में जगह दी गई।

समाचार क्रिकेट

अफगानिस्तान की टीम को बड़ी कामयाबी मिलने के बाद राशिद खान ने फैन्स से किया वादा

Staff Writer Updated: 30 January, 2019, 1:43 PM IST

HIGHLIGHT

  • अफगानिस्तान की टीम को 2020 में होने वाले टी-20 विश्व कप में जगह मिली
  • विश्व कप में टीम को जगह मिलने पर राशिद खान ने खुशी जाहिर की है
  • राशिद खान ने फैन्स से बेहतर प्रदर्शन करने का वादा किया है

हाल की के कुछ वर्षों में अफगानिस्तान की टीम ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन किया है। एक तरह से टीम ने क्रिकेट की ऊंचाइयों को बेहद ही कम समय में तेजी के साथ छुआ है। 2019 विश्व कप में अपनी जगह बना चुकी अफगान टीम अब 2020 में ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी-20 विश्व कम में भी खेलती नजर आएगी।

टीम के स्टार स्पिन गेंदबाज राशिद खान ने 2020 टी-20 विश्व कप में टीम को जगह मिलने पर खुशी जाहिर करते हुए कहा है कि विश्व कप में टीम को मौका मिलना बड़ी बात है। उन्होंने कहा,'' यह अच्छा लगता है। हमारे देश में सभी क्रिकेट को प्यार करते हैं। क्रिकेट ने बीते पांच-छह वर्षों में काफी कुछ बदल कर रख दिया है। युवा पीढ़ी में हर कोई क्रिकेट का दिवाना है। अफगानिस्तान का विश्व कप में हिस्सा लेना बहुत बड़ी बात है।”राशिद ने फैन्स से वादा किया कि आगे भी टीम बेहतर प्रदर्शन करेगी।

अफगानिस्तान को अगले साल ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी-20 विश्व कप में ग्रुप-दो में भारत, इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका के साथ रखा गया है।

राशिद शान अफगानिस्तान के स्टार खिलाड़ी हैं। आईसीसी की मौजूदा टी-20 रैकिंग में राशिद पहले स्थान पर हैं। इसके अलावा आईसीसी वनडे ऑलराउंडर रैकिंग में भी राशिद पहले स्थान पर कायम हैं।

समाचार क्रिकेट

पाकिस्तान लौटते ही शोएब अख्तर पर बुरी तरह से भड़के सरफराज अहमद

Staff Writer Updated: 30 January, 2019, 11:39 AM IST

HIGHLIGHT

  • चार मैच का बैन लगने के बाद पाकिस्तान लौटे सरफराज अहमद
  • पाकिस्तान पहुंच कर सरफराज ने शोएब अख्तर पर साधा निशाना
  • सरफराज ने फैन्स से माफी मांगते हुए आगे बेहतर प्रदर्शन करने का वादा किया

दक्षिण अफ्रीकी ऑलराउंडर एंडिले फेलुकवायो के खिलाफ नस्‍ली टिप्‍पणी करने के बाद सरफराज अहमद पर आईसीसी ने चार मैच का बैन लगा दिया है। बैन लगने के बाद सरफराज दक्षिण अफ्रीका दौरे के बीच में ही पाकिस्तान लौट आए हैं। सरफराज ने कहा कि यह मेरे लिए एक सबक है और मैं अपने कमेंट के लिए खेद जताते हुए प्रशंसकों से माफी मांगता हूं, लेकिन पाकिस्तानी खिलाड़ी ने अपने ही देश के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर द्वारा खुद की आलोचना करने पर तीखा हमला बोला है।

जियो टीवी को दिए इंटरव्यू में सरफराज ने कहा,'' शोएब अख्तर ने मेरी आलोचना करने के बहाने मुझ पर व्यक्तिगत हमला किया है जो की ठीक नहीं है। मैंने अपनी गलती मानी है और मुझे इसके लिए सजा भी मिली है। मैं भविष्‍य में अपने आप में सुधार करूंगा और अपने प्रदर्शन को भी बेहतर बनाने की कोशिश करूंगा''।

गौरतलब है कि शोएब अख्‍तर ने सरफराज की आलोचना करते हुए कहा था कि उनकी इस हरकत को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है। उन्हें सार्वजनिक तौर पर माफी मांगनी चाहिए। इतना ही नहीं पूर्व पाकिस्तानी गेंदबाज का यह भी कहना था कि सरफराज को मिली चार मैच के प्रतिबंध की सजा बेहद कम है उन्हें और सख्त सजा मिलनी चाहिए थी।

सरफराज ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ डरबन में हुए दूसरे वनडे मैच के दौरान एंडिले फेलुकवायो के खिलाफ विवादित टिप्‍पणी की थी। इस टिप्‍पणी को विकेट पर लगे माइक्रोफोन में सुना गया था।

समाचार क्रिकेट

रोहित शर्मा के लिए हैमिल्टन वनडे होगा ख़ास, सचिन तेंदुलकर जैसे दिग्गजों की लीग में होंगे शामिल

Shadab Ali Updated: 30 January, 2019, 10:59 AM IST

HIGHLIGHT

  • हैमिल्टन वनडे में मैदान पर उतरते के साथ ही रोहित शर्मा के नाम होगा एक ख़ास रिकॉर्ड  
  • वह भारत की तरफ से 200 वनडे खेलने वाले 14वें खिलाड़ी बन जाएंगे
  • इस कतार में सचिन, सहवाग, गांगुली, कोहली, इत्यादि जैसे दिग्गज भी हैं शामिल 

भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज और ‘हिट मैन’ के नाम से बड़ी उपाधि प्राप्त कर चुके रोहित शर्मा वर्तमान समय में अपनी टीम का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन चुके हैं. अब तक कई बड़े कीर्तिमान हासिल कर चुके रोहित एक और बड़ी उपलब्धि की ओर अग्रसर हैं. बता दें कि न्यूजीलैंड के खिलाफ हैमिलटन में खेला जाना वाला सीरीज का चौथा मुकाबला उनके लिए बेहद ख़ास होगा. विराट कोहली की गैरमौजूदगी में ना सिर्फ रोहित भारतीय टीम की कमान संभालेंगे, बल्कि एक ख़ास आंकड़ा भी उनके करियर के साथ जुड़ जाएगा.

दाएं हाथ के बल्लेबाज रोहित शर्मा मैदान पर उतरते ही सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़, मोहम्मद अजहरुद्दीन, सौरव गांगुली, वीरेंद्र सहवाग इत्यादि जैसे दिग्गजों की जमात में शामिल हो जाएंगे.

दरअसल, हैमिल्टन में रोहित शर्मा जब टीम इंडिया को लेकर मैदान में उतरेंगे तो वो उनके एकदिवसीय करियर का 200वां मुकाबला होगा. इसके साथ ही वह भारत की तरफ से 200 वनडे खेलने वाले 14वें खिलाड़ी बन जाएंगे. इस सूची में सबसे ऊपर पूर्व महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर (463 मैच) हैं.

भारत के लिए 200 या इससे अधिक एकदिवसीय मुकाबले खेलने वालों की फेहरिस्त में सचिन तेंदुलकर- 463 मैच, राहुल द्रविड़- 340 मैच, मोहम्मद अजहरुद्दीन- 334 मैच, महेंद्र सिंह धोनी- 334 मैच, सौरव गांगुली- 308 मैच, युवराज सिंह- 301 मैच, अनिल कुंबले- 269 मैच, वीरेंद्र सहवाग- 241 मैच, हरभजन सिंह- 234 मैच, जवागल श्रीनाथ- 229 मैच, सुरेश रैना- 226 मैच, कपिल देव- 225 मैच और विराट कोहली- 222 मैच, जैसे भारतीय दिग्गज शामिल हैं.

राय क्रिकेट

क्या कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल वनडे में भारत की स्पिनरों की आज तक की सबसे कामयाब जोड़ी है?

Staff Writer Updated: 29 January, 2019, 5:15 PM IST

HIGHLIGHT

न्यूजीलैंड में वनडे इंटरनेशनल सीरीज में भारत ने पहले दोनों मैच जीते तो दोनों जीत में एक समानता थी। अपनी बेहतरीन स्पिन से दुनिया भर के बल्लेबाजों को चकमा देने वाले युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव ने मिलकर 6-6 विकेट लिए। न्यूजीलैंड की पिचों पर स्पिनरों का ऐसी गेंदबाजी करना न सिर्फ एक आश्चर्य है - आने वाले दिनों के विश्व कप के लिए भारत की चेतावनी भी। भारत सिर्फ बेहतरीन बल्लेबाजों या तेज गेंदबाजों की टीम नहीं है। भारत के पास वनडे इंटरनेशनल में स्पिनरों की एक कामयाब जोड़ी भी है।

क्रिकेट में यह बड़ी पुरानी कहावत है कि गेंदबाज जोड़ी के तौर पर कामयाब रहते हैं। हरभजन सिंह ने जो गेंदबाजी अनिल कुंबले के साथ की - जोड़ी टूटने के बाद नहीं। वेस्टइंडीज में पहले टेस्ट के लिए इंग्लैंड ने तेज गेंदबाजों जिमी एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड की जोड़ी को तोड़ा - तेज पिच के बावजूद एंडरसन अकेले वह काम नहीं कर पाए जिसकी उनसे उम्मीद थी। युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव जोड़ी के तौर पर किसी भी बल्लेबाज को राहत नहीं लेने देते।

चहल ने वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट खेलना शुरू किया, 11 जून 2016 से तथा कुलदीप ने 23 जून 2017 से शुरू किया। लगभग एक साल की देरी रही पर न्यूजीलैंड में दूसरे वनडे तक दोनों बराबर 37 मैच खेले थे - चहल ने 66 और कुलदीप ने 77 विकेट लिए। चहल के वनडे में आने के बाद से एक वनडे में दो स्पिनरों की जोड़ी के 6 विकेट का रिकॉर्ड देखें तो ये रिकॉर्ड 60 बार बन चुका है - इसमें से 13 बार भारत की किसी स्पिन जोड़ी ने यह रिकॉर्ड बनाया और इसमें से भी 7 बार युजवेंद्र-कुलदीप जोड़ी ने। 13 में से सिर्फ 2 अवसर ऐसे हैं जब जोड़ी में एक नाम युजवेंद्र और कुलदीप में से किसी का भी नहीं है (2016-17 में विशाखापट्टनम में अक्षर पटेल-अमित मिश्रा और इसी मैच में जयंत यादव-अमित मिश्रा)।

न्यूजीलैंड में माउंट मनगुनई के दूसरे वनडे के दौरान जब युजवेंद्र और कुलदीप ने मिलकर 6 विकेट लिए तो एक नया रिकॉर्ड बना जिस पर किसी ने ध्यान नहीं दिया। युजवेंद्र चहल के वनडे में आने के बाद से भारत के दो गेंदबाजों (इसमें तेज गेंदबाज शामिल हैं) की जोड़ी के सबसे ज्यादा विकेट का रिकॉर्ड अब युजवेंद्र-कुलदीप जोड़ी के नाम हैं - 24 पारी में 22.44 औसत से 43 विकेट। भुवनेश्वर-कुलदीप (41 विकेट) और हार्दिक पांड्या-कुलदीप (34 विकेट) इसके बाद हैं।

युजवेंद्र ने 37 मैच में 66 विकेट लिए तो कुलदीप ने 77 - युजवेंद्र चहल के वनडे क्रिकेट में आने के बाद से कम से कम 66 विकेट लेने वाले अन्य गेंदबाज अफगानिस्तान के राशिद खान (45 मैच में 107), इंग्लैंड के आदिल रशीद (53 मैच में 92), पाकिस्तान के हसन अली (44 मैच में 77), जसप्रीत बुमराह (43 मैच में 76), न्यूजीलैंड के ट्रेंट बोल्ट (41 मैच में 72) और इंग्लैंड के लियम प्लंकैट (40 मैच में 70) हैं - जरा इन सभी के मैच की गिनती पर तो ध्यान दीजिए और तब पता लगेगा युजवेंद्र और कुलदीप के असर का।

भारत के वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट रिकॉर्ड में स्पिन जोड़ी का प्रदर्शन देखें तो युजवेंद्र-कुलदीप के 24 पारी में 43 से ज्यादा विकेट सिर्फ सुनील जोशी-अनिल कुंबले (42 पारी में 50), हरभजन-कुंबले (46 पारी में 51), कुंबले-राजू (32 पारी में 55), हरभजन-सहवाग (93 पारी में 62), हरभजन-युवराज (101 पारी में 81), अश्विन-जडेजा (84 पारी में 90) और कुंबले-तेंदुल्कर (167 पारी में 101) के नाम हैं। अगर 40 विकेट का योग्यता स्तर तय कर दो अच्छी जोड़ियों में मनिंदर सिंह-रवि शास्त्री (45 पारी में 41) और अश्विन-रैना (56 पारी में 40) को भी शामिल कर लें इस चर्चा में तो सोचिए कि जब युजवेंद्र-कुलदीप जोड़ी में इनके बराबर पारी में साथ-साथ गेंदबाजी कर लेंगे तो इनके विकेट का रिकॉर्ड क्या होगा? गेंदबाजी के रिकॉर्ड में इन सभी जोड़ियों में से बेहतर औसत (22.44) और बेहतर स्ट्राइक रेट (24.72) युजवेंद्र-कुलदीप का है जबकि सबसे कम ओवर (6 गेंद वाले 177.1) फैंके। और क्या साबित करना है।

कुलदीप ने ठीक कहा- ‘हम दोनों सिर्फ अपने विकेट की नहीं, एक-दूसरे के लिए भी विकेट की भूमिका बनाते हैं।’

फ़ीचर क्रिकेट

कौन हैं वे 5 क्रिकेटर जो सचिन तेंदुलकर के अलग-अलग रिकॉर्ड को चुनौती दे रहे हैं?

Staff Writer Updated: 29 January, 2019, 4:59 PM IST

HIGHLIGHT

जब सचिन तेंदुल्कर ने खेलना शुरू किया और प्रथम श्रेणी, टेस्ट तथा वनडे इंटरनेशनल में जो रिकॉर्ड वे बनाते चले गए - उनके साथ जुड़ी सबसे खास बात ये थी कि कम उम्र में रिकॉर्ड बनाने का जिक्र आता रहा। उस समय लग रहा था कि जिस कम उम्र में वे ये रिकॉर्ड बनाते जा रहे हैं - उसे बेहतर कर पाना शायद संभव नहीं होगा। चमत्कार कभी खत्म नहीं होते और युवा क्रिकेटर तेंदुल्कर के कम उम्र के रिकॉर्ड तोड़ रहे हैं। इनमें से सबसे नया नाम नेपाल के बल्लेबाज रोहित प्रूदेल का है। इसीलिए यह चर्चा शुरू हुई कि सचिन के कितने रिकॉर्ड बचेंगे? कौन हैं वे 5, जो रिकॉर्ड तोड़ रहे हैं?

1. रोहित प्रूदेल: रोहित ने अपना पहला वनडे इंटरनेशनल पिछले साल अगस्त में नीदरलैंड्स टूर में खेला। बहरहाल उनका नाम चर्चा में तब आया जब पिछले दिनों दुबई में यूएई के विरूद्ध 55 रन बनाए यानि कि अपना 50 का स्कोर। वास्तव में प्रूदेल ने 16 साल 146 की उम्र में इस 50 के साथ शाहिद अफरीदी का 16 साल 217 दिन की उम्र का रिकॉर्ड तोड़ा। सच ये है कि तेंदुल्कर ने अपना पहला वनडे 50 का स्कोर 5 दिसंबर 1990 को 17 साल 225 दिन की उम्र में बनाया था और प्रूदेल से पहले 5 बल्लेबाज तेंदुल्कर का रिकॉर्ड तोड़ चुके हैं। इनमें शाहिद अफरीदी (पाकिस्तान), अंशुमन रथ (हांगकांग), उस्मान गनी (अफगानिस्तान), मौहम्मद आमिर तथा हसन रजा (पाकिस्तान) जैसे नाम हैं। प्रूदेल को कम उम्र का फायदा मिलेगा और अगर नेपाल को वनडे इंटरनेशनल खेलने का मौका मिलता रहा तो ऐसे जिक्र और भी सुनने को मिलेंगे।

2. पृथ्वी शॉ: इस समय पृथ्वी शॉ 19वां जन्म दिन पार कर चुके हैं और टेस्ट में रिकॉर्ड है 2 टेस्ट में 237 रन। तेंदुल्कर ने टेस्ट क्रिकेट में 1000 रन बनाए 19 साल 217 दिन की उम्र में और इस शुरूआत को जरूर पृथ्वी चुनौती देते पर ऑस्ट्रेलिया में चोटिल होने तथा आगे क्रिकेट कैलेंडर में टेस्ट की कमी ने उनसे चुनौती का मौका छीन लिया। तेंदुल्कर ने अपना पहला टेस्ट शतक बनाया था 17 साल 112 दिन की उम्र में और इनसे कम उम्र में ये रिकॉर्ड पाकिस्तान के मुश्ताक मौहम्मद और बांग्लादेश के मौहम्मद अशरफुल के नाम है। पृथ्वी ने अपना पहला टेस्ट शतक बनाया 18 साल 329 दिन की उम्र में तथा इस संदर्भ में रिकॉर्ड में वे 7वें नंबर पर हैं। आगे पृथ्वी को बहुत मौके मिलेंगे।

3. विराट कोहली: इस समय उनके नाम 77 टेस्ट में 6613 रन हैं। सचिन तेंदुल्कर ने 6000 रन बनाए 26 साल 313 दिन की उम्र में और विराट कोहली ने 29 साल 299 दिन की उम्र में। ऐसे में उम्र का रिकॉर्ड मुश्किल हो रहा है पर तेजी में कोहली उनसे कम नहीं। तेंदुल्कर ने टेस्ट खेलना शुरू किया 15 नवंबर 1989 में और 25वां शतक बनाया 22 मार्च 2001 को जबकि कोहली ने यह रिकॉर्ड 8 साल से भी कम टेस्ट क्रिकेट खेलकर बना दिया। कोहली 222 वनडे में 10533 रन बना चुके हैं - तेंदुल्कर ने 10000 रन का रिकॉर्ड बनाया 27 साल 341 दिन की उम्र में और कोहली ने 29 साल 353 दिन की उम्र में लेकिन यह भी तो देखिए कि कोहली ने रिकॉर्ड के लिए 213 मैच लिए जबकि तेंदुल्कर ने 266 मैच खेल लिए थे।

4. शाहिद अफरीदी: पाकिस्तान के इस युवा ऑलराउंडर ने वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट में धमाकेदार शुरूआत की और पहला शतक 16 साल 217 दिन की उम्र में बनाया था। तेंदुल्कर ने पहले शतक के लिए कई साल इंतजार किया। यह बात अलग है कि बाद में तेंदुल्कर ने बुलेट ट्रेन पकड़ ली। अफरीदी अगर अपना ध्यान सही क्रिकेट पर लगाते तो तेंदुल्कर के कम उम्र के कई रिकॉर्ड तोड़ते।

5. शोएब मलिक: पाकिस्तान के ये ऑलराउंडर सचिन के एक खास रिकॉर्ड को चुनौती दे रहे हैं। तेंदुल्कर कुल 8127 दिन (18 दिसंबर 1989 से 18 मार्च 2012 तक) वनडे इंटरनेशनल खेले जबकि शोएब मलिक 27 जनवरी 2019 के मैच तक 7046 दिन खेल चुके हैं। शोएब भले ही उम्र में 36 पार कर चुके हैं पर फिटनैस और सही क्रिकेट देखें तो वे चुनौती में बहुत आगे हैं।

समाचार क्रिकेट

प्राइवेट प्लेन में अनुष्का के संग घूम कर विराट ने मनाया जीत का जश्न

Staff Writer Updated: 29 January, 2019, 4:55 PM IST

HIGHLIGHT

  • मीडिया में फिर छाई विराट-अनुष्का की जोड़ी
  • प्राइवेट प्लेन में अनुष्का के संग घूमने निकले विराट कोहली
  • विराट ने सोशल मीडिया में शेयर की अनुष्का के साथ अपनी एक खास तस्वीर

बात चाहे मैदान के अंदर की हो या बाहर की टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली जश्न मनाने का कोई भी मौका नहीं गंवाते हैं। न्यूज़ीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में धमाकेदार जीत दर्ज करने के बाद विराट अपनी पत्नी और एक्ट्रेस अनुष्का शर्मा के साथ शानदार तरीके से फुर्सत के पलों को बिता रहे हैं।

विराट ने सोशल मीडिया पर एक तस्वीर शेयर की जिसमें एक प्राइवेट प्लेन के सामने विराट और अनुष्का खड़े हैं। तस्वीर के कैप्शन में विराट ने लिखा, 'ट्रेवल्स विद हर'। विराट कोहली काले रंग की डार्क ड्रेस में दिख रहे हैं जबकि अनुष्का ने सफेद रंग की ड्रेस के ऊपर काले रंग का कोट पहन रखा है।

इससे पहले अनुष्का, विराट के साथ ऑस्ट्रेलिया में भी दिखी थीं, जहां पर टीम इंडिया ने ऐतिहासिक टेस्ट सीरीज़ जीत दर्ज की थी। ऑस्ट्रेलिया में चौथे टेस्ट के खत्म होने के बाद तो जीत का जश्न मनाने के लिए अनुष्का मैदान पर भी उतर आईं थीं। वहीं वनडे सीरीज जीतने के बाद विराट और अनुष्का ऑस्ट्रेलियन ओपन भी देखने गए थे, जहां उन्होंने दिग्गज टेनिस खिलाड़ी रोजर फेडरर से मुलाकात की थी।

विराट कोहली को न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज के बाकी दो मैच और उसके बाद टी-20 सीरीज से आराम दिया गया है। ऐसे में उन्हें पत्नी अनुष्का के साथ वक्त बिताने का एक बार फिर मौका मिल गया है।

समाचार क्रिकेट

 “ऑटो मोड में है टीम इंडिया, नहीं खलेगी मेरी कमी”

Shadab Ali Updated: 29 January, 2019, 4:33 PM IST

HIGHLIGHT

  • टीम इंडिया ने मौजूदा वनडे सीरीज में न्यूजीलैंड के खिलाफ 3-0 से अजय बढ़त प्राप्त की  
  • इस धमाकेदार जीत के साथ ही कोहली ने अपना कीवी दौरा समाप्त किया
  • कोहली ने कहा है कि टीम इंडिया इस समय शानदार खेल रही है   

पहले ऑस्ट्रेलिया को उन्हीं की सरज़मी पर और फिर न्यूजीलैंड को उन्हीं की धरती पर वनडे सीरीज में पराजित करने के बाद भारतीय टीम के हौसले काफी बुलंद हैं. एक तरफ जहां सभी भारतीय खिलाड़ी अपने मौजूदा प्रदर्शन से गदगद नज़र आ रहे हैं, वहीं दूसरी ओर विपक्षियों में टीम इंडिया का डर साफ़ नज़र रहा है.

आपको बता दें कि सोमवार को टीम इंडिया ने न्यूजीलैंड को चौथे वनडे में 7 विकेट से पराजित कर सीरीज में 3-0 की अजय बढ़त प्राप्त की. इस धमाकेदार जीत के साथ ही कोहली ने अपना कीवी दौरा समाप्त किया.

इसके बाद विराट कोहली ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि टीम इंडिया ऑटो मोड में है और विश्व कप 2019 को लेकर चिंता करने की कोई ज़रुरत नहीं है. क्योंकि ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में दमदार प्रदर्शन के बाद टीम इंडिया को विश्व कप में जीत का सबसे प्रबल दावेदार माना जा रहा है.

कोहली ने कहा, “मुझे नहीं लगता कि दमखम में कोई कमी आएगी. मैं खुश हूं कि टीम का साथ तब छोड़ रहा हूं जब हम सीरीज जीत चुके हैं. इससे मैं तनावमुक्त रहूंगा. टीम का दमखम वही रहेगा क्योंकि यह हमारी टीम संस्कृति का हिस्सा बन गया है और जरूरी नहीं कि इसमें मुझे कुछ करना है.” उन्होंने कहा, “इस समय टीम इंडिया ऑटो मोड में है. टीम को मेरी कमी नहीं खलेगी.”

समाचार क्रिकेट

 3-0 की हार से कीवी बल्लेबाज रॉस टेलर का छलका दर्द, कहा- ‘इस हार को पचाना मुश्किल’

Shadab Ali Updated: 29 January, 2019, 3:53 PM IST

HIGHLIGHT

टीम इंडिया के मौजूदा प्रदर्शन से समस्त विश्व क्रिकेट जगत हैरान है. विराट एंड कंपनी ने पूरे विश्व में अपने खेल का डंका बजाया हुआ है. न्यूजीलैंड के खिलाफ मौजूदा वनडे सीरीज में भी भारतीय टीम ने 3-0 से अजय बढ़त बनाई हुई है. कोहली वाली ‘विराट’ टीम के खिलाफ मिली 3-0 की हार कीवी खिलाड़ियों को पच नहीं रही है. पांच मैचों की सीरीज में अपनी टीम की लगातार हार से हैरान कीवी बल्लेबाज रॉस टेलर ने बड़ा बयान दिया है. टेलर के मुताबिक अपने घर में ऐसी हार को पचाना आसान नहीं है. साथ ही उन्होंने कहा कि टीम इंडिया उनसे बेहतर प्रादर्शन कर रही है.

बकौल टेलर, “हमें ऐसी हार की उम्मीद बिलकुल भी नहीं थी, खासकर अपने घर में. 3-0 की हार को पचाना काफी मुश्किल है. हमें भारतीय टीम को श्रेय देना होगा. उन्होंने हमसे बेहतर प्रदर्शन किया. तीनों मैचों में वो हमसे बहुत बेहतर थे.”

उन्होंने कहा, “टीम इंडिया ने हमें दबाव में रखा और अहम मौकों पर विकेट हासिल किए. वाकई में भारतीय टीम लाजवाब है.”

उल्लेखनीय है कि भारत ने कीवी टीम को सीरीज के पहले वनडे में 8 विकेट, दूसरे मैच में 90 रन और तीसरे मुकाबले में 7 विकेट से पराजित किया था. अब सीरीज का चौथा मैच 31 जनवरी को हैमिलटन में खेला जाएगा.